Monthly Archives: August 2012

Hunooz Khawab Mein…. By Rasheed Amjad

हुनूज़ ख़ाब में…. लेखक: रशीद अमजद  [उर्दू से हिंदी तर्जुमा: शीराज़ हसन, इदारत: गीताली तारे] आग अब चारों तरफ थी, तपिश में इज़ाफ़ा[i] हो रहा था, लेकिन आग नज़र नहीं आती थी, लोग हैरान हो हो कर चारों तरफ देखते थे लेकिन कुछ … Continue reading

Posted in Pakistani Writers | Tagged , , , , , , , | 20 Comments